जाने diabetes को.

क्या होता है मधुमेह ?

Diabetes Article In Hindi

Symbol for Diabetes – A blue circle

मधुमेह एक ऐसी बीमारी हैं जिसमें रोगी के खून में ग्लूकोज़ की मात्रा (blood sugar level) आवश्यकता से अधिक हो जाती है.ऐसा  दो  वजहों  से  हो सकता है : या तो आपका शरीर पर्याप्त मात्रा में insulin नहीं produce कर रहा है या फिर आपके cells produce हो रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं कर रहे. इंसुलिन एक हारमोन है जो आपके शरीर में carbohydrate और fat के metabolism को कण्ट्रोल करता है.मेटाबोलिज्म से अर्थ है उस प्रक्रिया से जिसमे शरीर खाने को पचाता है ताकि शरीर को उर्जा मिल सके और उसका विकास हो सके.

 हम जो खाना खाते हैं वो पेट में जाकर energy में बदलता है जिसे glucose कहते हैं.  अब काम होता है इस energy/glucose को हमारे body में मौजूद लाखों cells के अन्दर पहुचाना, और ये काम तभी संभव है जब हमारे pancreas (अग्न्याशय) पर्याप्त मात्रा में insulin produce करें. बिना इंसुलिन के glucose cells में प्रवेश नहीं कर सकता. और तब हमारे cells ग्लूकोज़ को जला कर शरीर को उर्जा पहुंचाते हैं. जब यह प्रक्रिया सामान्य रूप से नहीं हो पाती तो व्यक्ति मधुमेह से ग्रस्त हो जाता है.

सामान्य स्वस्थ व्यक्ति में खाने के पहले blood में glucose का level  70 से 100 mg./dl रहता है। खाने के बाद यह level 120-140 mg/dl हो जाता है और फिर धीरे-धीरे कम होता चला जाता है। पर मधुमेह हो जाने पर यह level सामन्य नहीं हो पाता और extreme cases में 500 mg/dl से भी उपार चला जाता है.

मधुमेह के प्रकार: 

  1. Type 1 diabetes: यह तब होता है जब आपकी body insulin बनाना बंद कर देती है. ऐसे में मरीज को बाहर से इंसुलिन देनी पड़ती है . इसे  insulin-dependent diabetes mellitus, IDDM भी  कहते  हैं
  2. Type 2 diabetes: यह तब होता है जब आपके cells produce हो रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं करते.  इसे non-insulin-dependent diabetes mellitus, NIDDM भी  कहते  हैं
  3. Gestational diabetes:ये ऐसी महिलाओं को होता है जो गर्भवती हों और उन्हें पहले कभी diabetes ना हुआ हो.ऐसा pregnancy के दौरान खून में ग्लूकोज़ की मात्रा (blood sugar level) आवश्यकता से अधिक हो जाने के कारण होता h is when pregnant women, who have never had diabetes before, have a high blood glucose level during pregnancy. It may precede development of type 2 DM.

Diabetes से सम्बंधित कुछ facts:

  • Type 2 Diabetes से ग्रस्त लोग स्वस्थ्य लोगों की अपेक्षा 5 – 10 साल पहले मर जाते हैं.
  • Type 2 Diabetes सबसे common form of Diabetes है.
  • Diabetes किसी भी age group के लोगों को हो सकता है, बच्चों को भी
  • भारत में 5 में से 1 व्यक्ति diabetes से प्रभावित है.
  • अगर इसे control ना किया जाये तो ये heart-attack,blindness, stroke (आघात), या kidney failure में result कर सकता है.
  • स्वस्थ खा कर और physical activity  को बढ़ा कर टाइप २ मधुमेह को 80 % तक रोका जा सकता है.
  • यह एक अनुवांशिक बिमारी है. यानि यदि परिवार में पहले किसी को ये बिमारी रही हो तो आपको भी हो सकती है.

Diabetes हो जाने पर क्या करें:

  • नियमित रूप से blood sugar की जांच कराते रहे.200 mg/dl से ज्यादा reading diabetes की प्रमाणिकता करती हे.
  • परहेज करना बहुत ही आवशयक है, असावधानी बाद में घातक हो सकती है. बाद में blindness, amputation या dialysis का सामना करने  से कहीं आसान होगा परहेज करना.
  • दवाओं के सेवन को हलके में ना लें , और डॉक्टर के बताये हुए समय पर दावा अवश्य लें.
  • स्वस्थ खाएं और active रहे. व्यायाम करके इस काफी हद तक control किया जा सकता है.
  • पर्याप्त मात्रा में नीद लें.
  • सुबह या शाम को टहलने की आदत डालें.

 Diabetes के Symptoms

  • अधिक प्यास या भूख लगना
  • अचानक वज़न का घट जाना
  • लगातार कमजोरी और थकावट महसूस करना
  • घाव भरने में ज्यादा वक़्त लगना
  • बार-बार पेशाब होना
  • चीजों का धुंधला नज़र आना
  •  त्वचा में संक्रमण होना और खुजली होना

Diabetes में किन खाने-पीने  की चीजों को avoid करें :

धूम्रपान,चीनी, मिठाई,ग्लूकोज, मुरब्बा, गुड़, आइसक्रीम, केक, पेस्ट्री, मीठा बिस्कुट,चॉकलेट, शीतल पेय, गाढ़ा दूध, क्रीम,तला हुआ भोजन,मक्खन, घी, और हाइड्रोजनीकृत वनस्पति तेल, सफेद आटा,जंक फूड,कुकीज़, डिब्बा बंद और संरक्षित खाद्य पदार्थ, इत्यादि.i

Diabetesमें किन खाने-पीने  की चीजों का सेवन करें :

खूब पानी पीएं ,अंगूर,अनार का रस, भारतीय ब्लैकबेरी, केला,सेब, अंजीर,  काली बेरी, कीवी फल, खट्टे,फल,ककड़ी, सलाद पत्ता, प्याज, लहसुन ,मूली,टमाटर, गाजर, पत्तियों, पालक शलजम, गोभी और  रंगीन सब्जियों, बिना शक्कर फलों के रस, कच्चा केला,कच्ची मूंगफली, टमाटर, केले,खरबूजे, सूखे मटर, आलू, सेब साइडर सिरका, स्किम्ड दूधपाउडर, गेहूं,दलिया, बादाम, मटर, अनाज,छोला, बंगाल चना , काला चना,दाल , मकई , सोया अंकुरित फलियां, रोटी,गेहूं की भूसी, whole grain bread,मट्ठा, दही, इत्यादि.

UpTrump signs ‘buy American, hire American’ order to end H-1B ‘misuse’

Wait and watch america time will come when u americans will die to get a working visa for india 

Where america stand now indians have played a mojor role 
Apple , google, facebook , twitter …… all these wouldnt exist without indians . 
Major surgeons and best doctors in usa r indians 
You guys cannot do without indians 
Indians are rhe most smart , hard working and focused people 
Its just a matter of time 
Trumph administration will realise the mistake in few years

OBOR is just a gain for China. No one else benefits from it.

China is a huge manufacturing based company,that barely imports anything and has surplus exports,South China sea issue has created a slowdown in their economy which showed the vulnerabilities of exports getting stuck,this is the exact reasons why China is stressing on OBOR on fast pace. But biggest drawback is emerging economies are aware that OBOR will only help China and damage local markets, for countries that are not even in G20 like Pakistan or Nepal OBOR is a ray of hope while to Nations such as India,Brazil who have their own domestic markets, staying away from OBOR is good for their own economy.
Anyone who has a slightest of knowledge about threat to domestic economy ,importance and challenges wont allow china on its soil.